होम General क्रिकेट अंपायर कैसे बनें – Process to Become Cricket Umpire की...

क्रिकेट अंपायर कैसे बनें – Process to Become Cricket Umpire की पूरी जानकारी

पूरी दुनिया में क्रिकेट को काफी पसंद किया जाता है। क्रिकेट के चाहने वालों में काफी लोग अंपायर बनने का सपना देखते हैं। लेकिन पूरी जानकारी न होने की वजह से वह अपने ख्वाब पूरे नहीं कर पाते हैं।

अगर आप भी क्रिकेट अंपायर बनना चाहते हैं। लेकिन आप को इस बारे में नहीं पता कि आप कैसे अंपायर बन सकते हैं। (how to be a cricket umpire in India) तो फिर इस आर्टिकल को लास्ट तक पढ़ें।

इसे पढ़ने के बाद आप समझ जाएंगे कि How to Become Cricket Umpire in India और Procedure to Become Cricket Umpire क्या है।

Table of Contents

क्रिकेट अंपायर बनने की योग्यता

क्रिकेट अंपायर बनने के लिए ज़रूरी है कि आपकी आंख बिल्कुल स्वस्थ होनी चाहिए। इसके अलावा आपके सुनने की क्षमता काफी अच्छी होनी चाहिए। आप शारीरिक रूप से बिल्कुल फिट होने चाहिए। Cricket Umpire Age Limit की बात करें तो आपकी उम्र 18 साल से लेकर 55 साल के बीच ही होनी चाहिए।

अगर आप इन चारों पैमानों पर बिल्कुल खरे उतरते हैं तो अब आप क्रिकेट अंपायर बनने के ख्वाब देख भी सकते हैं और उन्हें हकीकत में भी बदल सकते हैं।

Cricket Umpire Qualification की बात करें तो आपको बता दें कि अंपायर बनने के लिए कोई मिनिमम क्वालीफिकेशन निर्धारित नहीं की गई है। अगर आपको अच्छी इंग्लिश आती है तथा आप लिखना और पढ़ना जानते हैं तो आप बिना कोई बड़ी डिग्री के आसानी से अंपायर बन  सकते हैं।

एक सवाल ये है कि क्या अंपायर बनने के लिए रणजी या अंतरराष्ट्रीय मैच खेलना जरूरी होता है…? इसका जवाब ये है कि आप बिना एक भी मैच खेले आराम से अंपायरिंग के लिए आवेदन कर सकते है।

क्रिकेट अंपायर बनने की पूरी प्रक्रिया

जैसा की आर्टिकल की शुरुआत में हमने बताया है कि अंपायर बनने के लिए आंख, कान और शारीरिक रूप से बिल्कुल फिट होना जरूरी है। इसके अलावा आपकी क्रिकेट में काफी अच्छी नॉलेज और इंटरेस्ट होना भी जरूरी है। इसके अलावा आपको कई राउंड की परीक्षा (cricket umpire exam) और इंटरव्यू से भी गुज़रना होगा।

क्रिकेट अंपायर बनने की प्रक्रिया (Cricket Umpire Procedure) की शुरुआत काफी निचले स्तर से करनी पड़ती है। अगर आप आईसीसी के अंपायर बनना चाहते हैं तथा अंतरराष्ट्रीय मैचों में अंपायरिंग कराना चाहते हैं तो इसका कोई शॉर्टकट नहीं है। आपको आईसीसी का रास्ता घरेलू क्रिकेट से होकर ही पार करना होगा।

how to become cricket umpire in india  की बात करें तो भारत में एक अंपायर बनने के लिए सबसे पहले आपको भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड यानी BCCI द्वारा मान्यता प्राप्त अपने  नजदीकी क्रिकेट एसोसिएशन में एप्लिकेशन देना होगा। भारत के प्रत्येक राज्य में BCCI द्वारा मान्यता प्राप्त बोर्ड मौजूद है जो कि अपने-अपने राज्य में क्रिकेट का संचालन करता है।

साल दो साल पर ये राज्य क्रिकेट बोर्ड अंपायर की वैकेंसी निकालते रहते हैं। आप इन बोर्ड से जुड़े व्यक्तियों के संपर्क में बने रहें या इनकी वेबसाइट पर नजर बनाए रखें। अंपायरिंग से संबंधित निकलने वाली वैकेंसी की जानकारी आपको सिर्फ स्टेट क्रिकेट बोर्ड की वेबसाइट पर ही मिल सकती है या यहां काम करने वाले लोगों के द्वारा ही आपको जानकारी मिल पाएगी।

अब जैसे ही आपको पता लगाता है कि आपके नजदीकी क्रिकेट बोर्ड में अंपायर की वैकेंसी निकली है, तो बस अप्लाई कर दें।

क्रिकेट अंपायर की परीक्षा

आप जैसे ही अप्लाई करेंगे कुछ दिनों बाद क्रिकेट बोर्ड द्वारा एक रिटेन एग्जाम लिया जाता है। एग्जाम में पूछे जाने वाले प्रश्न MCA द्वारा बनाए गए 42 लॉ ऑफ क्रिकेट ( 42 Law of Cricket) पर ही आधारित होते हैं। ये वह नियम हैं जिस नियम के दायरे में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेला जाता है।

इसलिए Cricket Umpire Exam में बैठने से पहले क्रिकेट से जुड़े छोटे से छोटे नियम को अच्छे तरीके से याद कर लें उसके बाद एग्जाम दें।

एक बात ध्यान दें कि लिखित एग्जाम से पहले process to become cricket umpire में आवेदन करने वाले सभी लोगों के आवेदन की जांच की जाती है। जांच में सही पाए गए कंडीडेट को शॉर्टलिस्टेड किया जाता है। इसके बाद स्टेट क्रिकेट बोर्ड द्वारा ही 4 दिनों का एक Umpire Certification Course या cricket umpire course करवाया जाता है।

इस cricket umpire course के दौरान पहले 3 दिन क्रिकेट के नियम-कानून की बारीकियों को समझाया जाता है। जबकि चौथे दिन मैच के दौरान किस तरीके से फैसले लेने हैं और मैच के दौरान की बारीकियों को समझाया जाता है। इसके बाद रिटेन एग्जाम होता है।

इसलिए रिटेन एग्जाम में शामिल होने से पहले अंपायर सर्टिफिकेट कोर्स में शामिल होना अनिवार्य होता है।

लिखित एग्जाम देने के बाद कॉपी की जांच स्टेट क्रिकेट बोर्ड द्वारा करवाई जाती है। इस एग्जाम में किए गए प्रदर्शन के आधार पर कैंडिडेट को शॉर्टलिस्टेड किया जाता है। उसके बाद उन्हें इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है।

इंटरव्यू में आपके कॉन्फिडेंस लेवल, फैसले लेने की क्षमता, दबाव झेलने की क्षमता इत्यादि को परखा जाता है तथा क्रिकेट से जुड़ी छोटी से छोटी बातों के बारे में सवाल किया जाता है।

Cricket Umpire Written Exam and Interview

रिटेन एग्जाम में सफल शॉर्टलिस्टेड कैंडिडेट का इंटरव्यू लेने के बाद एक बार फिर से इंटरव्यू में किए गए प्रदर्शन के आधार पर कैंडिडेट को शॉर्टलिस्टेड किया जाता है। जिन्होंने इंटरव्यू में अच्छा प्रदर्शन किया है, उन्हें प्रैक्टिकल के लिए बुलाया जाता है।

प्रैक्टिकल लेने का तरीका यह है कि पहले स्टेट क्रिकेट बोर्ड आपको कुछ स्थानीय मैच में अंपायरिंग के लिए बुलाएगा। आप उस मैच में किस तरीके से फैसले दे रहे हैं तथा आपका ओवरऑल प्रदर्शन इस मैच में कैसा है, उसके आधार पर एक बार फिर सभी कैंडिडेट की लिस्ट बनाई जाती है तथा इसमें बेहतर प्रदर्शन करने वाले कैंडिडेट को शॉर्टलिस्टेड करते हुए स्टेट क्रिकेट बोर्ड में अंपायर बना दिया जाएगा।

स्टेट क्रिकेट बोर्ड में अंपायर बन्ना बीसीसीआई का अंपायर बनने की तरफ पहला कदम माना जाता है। राज्य क्रिकेट बोर्ड में अंपायर बनने वाले को अब अगले 2 से 3 साल तक स्थानीय मैचों में ही अंपायरिंग करनी पड़ती है।

अब इन 2 से 3 सालों के दौरान किस अंपायर का फैसला कैसा रहा है तथा मैदान पर उनका ओवरऑल प्रदर्शन कैसा रहा है, उस आधार पर राज्य क्रिकेट बोर्ड बीसीसीआई को अंपायरों का नाम भेजता है।

जिन अंपायरों के नाम की सिफारिश बीसीसीआई को मिलती है, BCCI उनमें से भी कुछ अंपायरों के नामों की छंटनी करता हैं। इसके बाद शॉर्टलिस्टेड अंपायर को बीसीसीआई द्वारा आयोजित किए जाने वाले Level 1 एग्जाम में बैठने का मौका मिलता है।

बीसीसीआई द्वारा आयोजित किया जाने वाला लेवल वन एग्जाम भी काफी हद तक स्टेट क्रिकेट बोर्ड द्वारा लिए जाने वाले एग्जाम की तरह ही होता है। लेकिन यहां एग्जाम थोड़ा मुश्किल होता है तथा इंटरव्यू भी बड़े-बड़े विशेषज्ञ लेते हैं।

लेवल वन एग्जाम में भी पहले कैंडिडेट को रिटेन एग्जाम से गुजरना होता है। लिखित एग्जाम में सफल होने वाले कैंडिडेट को वाइवा यानी इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है। इंटरव्यू में सफल होने वाले कैंडिडेट को अब फिर से प्रैक्टिकल के लिए बुलाया जाता है। अब तीनों ही चरण में किए गए प्रदर्शन के आधार पर असफल कैंडिडेट की छटाई की जाती है

Cricket Umpire Level 1 में सफल होने वाले कैंडिडेट को अब फिर से BCCI द्वारा 1 साल का Level 1 Refresher Course करवाया जाता है। इस दौरान अलग-अलग मैचों में अंपायरिंग करने का मौका दिया जाता है। साथ ही उन्हें क्रिकेट की बारीकियां भी सिखाई जाती है। अब level-1 में पास हो चुके वैसे अंपायर जो सफलतापूर्वक Level 1 Refresher Course कर लेते हैं, उन्हें अब Level 2 एग्जाम में शामिल होने का मौका मिलता है। Level 2 एग्जाम की भी प्रक्रिया लगभग एक जैसी ही होती है। इसमें भी अंपायरों को पहले रिटेन एग्जाम, फिर इंटरव्यू तथा आखिर में प्रैक्टिकल से गुजरना होता है।

Level-2 में कामयाब होने वाले अंपायर फाइनली बीसीसीआई के अंपायर बन जाते हैं। इसके बाद वह आराम से  बीसीसीआई द्वारा आयोजित किए जाने वाले घरेलू तथा इंटरनेशनल मैचों में अंपायरिंग कर सकते हैं। इस तरह आपको पता चल गया होगा कि Cricket Umpire banne ki parkriya kya hai.

क्रिकेट अंपायर का वेतन – Cricket Umpire Salary

अंपायरों की काबिलियत के हिसाब से बीसीसीआई ने अंपायरों की दो अलग-अलग कैटेगरी बनाई है।

सबसे अच्छे अंपायर को Top Umpire की लिस्ट में रखा जाता है। इसमें 15 से 20 अंपायर होते हैं। इस लिस्ट में शामिल अंपायरों को एक वनडे मैच और टेस्ट मैच में एक दिन के लिए 40,000 दिया जाता है। जबकि एक T20 के लिए 20 हज़ार दिया जाता है।

दूसरी कैटेगरी में भी 15 से 20 अंपायर होते हैं। इन्हें Empanelled Umpires कहा जाता है।  इस लिस्ट में शामिल अंपायरों को वनडे और टेस्ट मैच के लिए प्रतिदिन 30 हज़ार तथा T-20 मैचों के लिए 15,000 रुपए दिए जाते हैं।

ICC के अंपायर को कितनी सैलरी – ICC Umpire Salary

आईसीसी अपने अंपायर को काफी ज्यादा वेतन देता है। उन्हें सालाना 45,000 डॉलर से 35000 डॉलर यानी लगभग 35 से 33 लाख रुपए दिया जाता है। इस फिक्स्ड सैलरी के अलावा उन्हें प्रत्येक अंतराष्ट्रीय  टेस्ट मैच के लिए 5000 डॉलर,वनडे मैच के लिए 3000 डॉलर और  T20 के लिए 1500 डॉलर दिया जाता है।

आईसीसी के एलीट पैनल में जो अंपायर शामिल होते हैं उन्हें 1 साल का 1,15,000 डॉलर से लेकर 1,40,000 डॉलर यानी लगभग 85 लाख से 1 करोड़ 20 हज़ार रुपए तक दिया जाता है। इसके अलावा उन्हें बहुत सारी सुविधाएं दी जाती है। ICC के अंपायर को आईपीएल के एक मैच में फिलहाल 2800 डॉलर दिया जाता है।

उम्मीद है की आपको अंपायर बनने की पूरी प्रक्रिया (how to become cricket umpire in india) तथा process to become cricket umpire के बारे में जानकारी हो गयी होगी।