होम General Hindu vs Hindi – जानिए, हिन्दू तथा हिंदी में क्या अंतर है

Hindu vs Hindi – जानिए, हिन्दू तथा हिंदी में क्या अंतर है

हिंदू तथा हिंदी (Hindu and Hindi ) दो ऐसे शब्द हैं जो देखने में लगभग एक जैसे ही लगते हैं। ऐसे में अक्सर लोग हिंदी तथा हिंदू, दोनों का एक ही मतलब निकालने लगते हैं। जबकि ऐसा नहीं है। Hindu vs Hindi दोनों दो शब्द हैं। तथा Hindu vs Hindi में दोनों के मतलब भी अलग-अलग हैं।

चलिए, आपको इस आर्टिकल में इसी हिंदी वर्सेस हिंदू (Hindu vs Hindi) के बारे में पूरी जानकारी देते हैं। इस आर्टिकल में आपको Hindu vs Hindi शब्दों से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्यों के बारे में भी बताएंगे।

Hindu vs Hindi – हिन्दू बनाम हिंदी

हिंदी वर्सेस हिंदू (Hindu vs Hindi) को आसानी से समझने के लिए, जब हम इसके परिभाषा को समझेंगे तो इसके अर्थों को समझने में आसानी होगी। चलिए पहले इन दोनों शब्दों के अर्थों को जानते हैं।

हिंदी का अर्थ – Hindu Meaning in Hindi

Hindu (हिंदू) – हिंदू शब्द की बात करें तो हिंदू एक खास धर्म के मानने वालों के लिए उपयोग किया जाता है। आसान भाषा में कहें तो हिंदू एक धर्म है जिसका पालन पूरी दुनिया में लगभग 100 करोड़ से अधिक लोग करते हैं।

मुख्य रूप से हिंदू धर्म के लोग भारत में तथा भारतीय उप महाद्वीप के देशों में रहते हैं। आबादी के हिसाब से सबसे अधिक हिंदुओं की आबादी वाला देश भारत है। इसके अलावा अच्छी खासी आबादी में हिंदू पाकिस्तान, बांग्लादेश में भी रहते हैं। नेपाल तथा मॉरीशस में भी बड़ी संख्या में हिंदुओं की आबादी है। इसके अलावा विश्व के कई देशों में छिटपुट आबादी हिंदुओं की हैं जो कि भारत तथा पड़ोसी देशों से जा कर वहां बस गए हैं।

हिंदू धर्म का इतिहास बहुत पुराना है। इस धर्म को दुनिया की सबसे प्राचीनतम धर्मों में से एक माना जाता है। आंकड़ों के अनुसार हिंदू धर्म का उदय 2000 से 1500 BC के बीच हुआ था। यहां से समय के साथ ये धर्म बढ़ता हुआ विश्व के कई देशों में फैल गया।

हिन्दू शब्द का उदय – Origin of Hindu word

हिंदू शब्द के बारे में एक रोचक तथ्य यह भी है कि हिंदू शब्द का उपयोग एक खास धर्म का पालन करने वालों को परिभाषित करने के लिए किया जाता है। लेकिन आपको यह जानकर हैरानी होगी कि अधिकांश जिन्हें आज हिन्दू कहा जाता है, उनकी धार्मिक ग्रंथों में हिंदू शब्द का उपयोग नहीं किया गया है। हिंदू शब्द की बजाय इन ग्रंथों में सनातन धर्म यह शाश्वत धर्म का उल्लेख किया गया है।

ऐसे में एक सवाल मन में आता है कि जब हिंदू शब्द का उल्लेख धार्मिक ग्रंथों में नहीं है तो फिर हिंदू शब्द कैसे आया? तो बता दें कि हिंदू शब्द संस्कृत के एक अन्य शब्द सिंधु से आया है। सिंधु उत्तर पश्चिम से बहने वाली एक बहुत ही विशाल नदी है। इस नदी को Indus River के नाम से भी जाना जाता है।

जब अरब देश के लोग भ्रमण करते हुए इस क्षेत्र में आए तो उन्होंने सिंधु नदी के दूसरी ओर रहने वाले लोगों को देखा तथा अरब वालों ने ही इन लोगों को अल-हिन्द (Al-Hind) नाम दिया। इसका अर्थ अरबी भाषा में था “वैसे लोग जो सिंधु नदी के उस पार रहते हैं”. यही शब्द आगे चलकर हिंदू में बदल गया।

इससे पता चलता है कि जिन्हें आज हिन्दू कहा जाता है, वह क्षेत्र के आधार पर हिन्दू कहलाए ना कि धर्म की वजह से। उस समय सिंधु नदी के इस पर रहने वाले प्रत्येक धर्म के लोगों को हिन्दू ही कहा जाता था। लेकिन समय के साथ हिंदू शब्द केवल एक धर्म का परिचायक बन कर रह गया।

हिंदुस्तान और हिन्दू – Hindustan and Hindu

जब उर्दू का विकास हुआ तो उर्दू में सिंधू नदी के इस पार रहने वाले लोगों के लिए “हिंदुस्तान (Hindustan)” शब्द का उपयोग किया गया। इसका शाब्दिक अर्थ “हिंदुओं का स्थान या Land of Hindus” होता है। यानी कि वैसी जगह जहां हिंदू रहते थे। इस तरह हिंदू शब्द प्रचलन में आया। तथा सनातन धर्म का पालन करने वालों को परिभाषित करने के लिए “हिंदू” शब्द का उपयोग किया जाने लगा।

हिंदी एक भाषा है – Hindi is a Language

अब तक आपको यह पता चल गया है कि हिंदू शब्द क्या है। तो चलिए आप बात करते हैं हिंदी शब्द के बारे में।

हिंदी (Hindi) – हिंदी एक भाषा है जो कि खासकर भारत के कुछ राज्यों में बोली जाती है। हिंदी भाषा का उदय संस्कृत से हुआ था। संस्कृत विश्व की सबसे प्राचीनतम भाषाओं में से एक है।

जब हिंदी भाषा का उदय हुआ था, उस समय यह काफी हद तक संस्कृत भाषा से ही मिलती जुलती थी। या कहें कि हिंदी संस्कृत को आसान बनाती थी। लेकिन समय के साथ हिंदी का रूप बदलता गया आज जो हिंदी बोली जाती है वह खड़ी बोली (Khadiboli) श्रेणी की हिंदी है।

आज की हिंदी में काफी हद तक उर्दू भाषा का भी मिश्रण है। खास कर बोलचाल की भाषा में हिंदी-उर्दू मिला कर बोली जाती है।

हिंदी एक भारतीय भाषा है तथा यह मुख्य रूप से भारत में ही बोली जाती है। हालांकि यह भी भारत के दक्षिणी राज्यों में बेहद कम बोली जाती है। हिंदी भाषा का उपयोग मुख्य रूप से उत्तरी, पश्चिमी तथा पूर्वी राज्यों में होता है। सबसे ज्यादा हिंदी भाषा उत्तर भारत के राज्यों में बोली जाती है। दक्षिण भारत (South India) के राज्यों में आज भी हिंदी भाषा बेहद कम उपयोग किया है।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि भारत के सिर्फ 9 राज्यों तथा 3 केंद्र शासित राज्यों में ही हिंदी को आधिकारिक भाषा का दर्जा प्राप्त है।

क्या हिन्दू केवल हिंदी बोलते हैं – Is Hindus Speaks only Hindi?

एक आम धारणा यह है कि जो भी हिंदू धर्म के लोग हैं वह केवल हिंदी भाषा का ही उपयोग करते हैं। लेकिन यह धारणा गलत है। क्योंकि भारत के लगभग सभी राज्यों में हिंदू धर्म के मानने वालों की संख्या काफी ज्यादा है। इसके बावजूद उन राज्यों में हिंदी भाषा नहीं बोली जाती है। जैसे कि दक्षिण भारत के राज्यों में केवल क्षेत्रीय भाषा का उपयोग किया जाता है।

उदाहरण के तौर पर पश्चिम बंगाल में बड़ी संख्या में हिंदुओं की आबादी है। लेकिन वहां केवल बंगाली भाषा का उपयोग किया जाता है। इसी तरह तमिलनाडु में भी हिंदू काफी अधिक है। लेकिन वहां तमिल भाषा का ही उपयोग किया जाता है। इसी तरह पूर्वी राज्यों में भी हिंदी की बजाय वहां के हिंदू वहां बोले जाने वाली क्षेत्रीय भाषा का ही उपयोग करते हैं।

इस तरह अब यह साफ है कि हिंदू तथा हिंदी (Hindu vs Hindi) दोनों अलग-अलग शब्द है। तथा दोनों के अर्थ भी अलग-अलग है। हिंदी एक भाषा (Language) है। जबकि हिंदू एक धर्म (Religion) है। हिंदू सिर्फ हिंदी भाषा ही नहीं हैं  बल्कि उनकी भाषाएं क्षेत्र (Area) के आधार पर तय होती है।