होम General भारत के सबसे धनी व्यक्ति मुकेश अंबानी का जीवन परिचय (Biography Of...

भारत के सबसे धनी व्यक्ति मुकेश अंबानी का जीवन परिचय (Biography Of Mukesh Ambani)

  • पूरा नाम: मुकेश धीरूभाई अंबानी
  • जन्म: 19 अप्रैल 1957 (आयु 64 वर्ष), एडन, यमन
  • जीवनसाथी: नीता अंबानी (1985)
  • कुल मूल्य: 7,630 करोड़ अमरीकी USD (2021)
  • शिक्षा: रासायनिक प्रौद्योगिकी संस्थान (ICT),
  • बच्चे: ईशा अंबानी, आकाश अंबानी, अनंत अंबानी

मुकेश धीरूभाई अंबानी एक भारतीय अरबपति व्यवसायी हैं। वह रिलायंस इंडस्ट्रीज के संस्थापक स्वर्गीय धीरूभाई अंबानी के सबसे बड़े बेटे हैं। वे अध्यक्ष, प्रबंध निदेशक,और रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के सबसे बड़े शेयरधारक हैं। रिलायंस इंडस्ट्रीज में मुकेश की व्यक्तिगत हिस्सेदारी 48% है।

रिलायंस इंडस्ट्रीज एक फॉर्च्यून ग्लोबल 500 कंपनी और बाजार मूल्य से भारत की सबसे मूल्यवान कंपनी है। मुकेश अंबानी के रिलायंस इंडस्ट्रीज का कारोबार रिफाइनिंग, पेट्रोकेमिकल, तेल, गैस और रिटेल जैसे क्षेत्रों में फैला हुआ है।

मुकेश अंबानी का परिवार

मुकेश अंबानी जन्म 19 अप्रैल 1957 को अदन (यमन) में हुआ था। उनके पिता का नाम धीरूभाई अंबानी और उनकी का नाम कोकिलाभाई अंबानी है। मुकेश अंबानी की दो बहनें है जिनका नाम दीप्ति सलगांवकर और नीना कोठारी है।

मुकेश अंबानी के छोटे भाई का नाम अनिल अंबानी हैं। मुकेश अंबानी की पत्नी का नाम नीता अंबानी है तथा इनके तीन बच्चे है। इनके बड़े बेटे का नाम अनंत अंबानी और छोटे बेटे का आकाश अंबानी है। और इनकी एक बेटी है जिसका नाम ईशा अंबानी है।

मुकेश अंबानी का प्रारंभिक जीवन

 मुकेश अंबानी के जन्म के एक साल बाद 1958 में, धीरूभाई अंबानी मसाले और कपडे का कारोबार शुरू करने के लिए यमन से वापस भारत आ गए। 1970 के दशक तक मुकेश अम्बानी का परिवार मुंबई के भुलेश्वर में दो कमरों के मकान में रहता था। धीरूभाई ने बाद में मुंबई के कोलाबा क्षेत्र में एक 14 मंजिल ईमारत खरीद लिया जहाँ सब लोग रहने लगे।

मुकेश अंबानी ने अपनी प्राथमिक शिक्षा अपने भाई के साथ हिल ग्रेंज हाई स्कूल, मुंबई से प्राप्त की है। बाद में उन्होंने इंस्टीट्यूट ऑफ केमिकल टेक्नोलॉजीज, माटुंगा में दाखिला लिया और केमिकल सेल में बीई की डिग्री हासिल की।

फिर उन्होंने MBA में मास्टर्स करने के लिए स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी (USA) में दाखिला लिया। परन्तु मुकेश अंबानी एक साल बाद ही अपने पिता धीरुभाई अम्बानी की मदद करने के लिए पढ़ाई छोड़ दी।

मुकेश अंबानी का करियर

मुकेश अंबानी ने रिलायंस इंडस्ट्रीज की स्थापना में अपने पिता की सहायता करने का विकल्प चुना। तभी से उन्होंने व्यवसाय जगत में कार्य करना  शुरू कर दिया। मुकेश अंबानी ने विदेश से वापस लौटने पर एक पॉलिएस्टर फिलामेंट यार्न निर्माण संयंत्र स्थापित करने में अपने पिता की मदद की।

1981 में, वह आधिकारिक तौर पर अपने पिता के साथ रिलायंस इंडस्ट्रीज में शामिल हो गए।

मुकेश अंबानी ने रिलायंस इन्फोकॉम लिमिटेड की स्थापना में भी मदद की, जो सूचना और संचार प्रौद्योगिकी पहल पर केंद्रित थी। उन्होंने ‘बैंक ऑफ अमेरिका कॉरपोरेशन’ के निदेशक मंडल और ‘विदेश संबंधों पर परिषद के अंतर्राष्ट्रीय सलाहकार बोर्ड’ में कार्य किया है। उन्होंने ‘भारतीय प्रबंधन संस्थान बैंगलोर’ (IIMB) के अध्यक्ष के रूप में भी कार्य किया है।

मुकेश अम्बानी का घर  – एंटीलिया

मुकेश अम्बानी अपने परिवार के साथ मुंबई शहर में स्थित अपने 27 मंजिला ईमारत ‘एंटीलिया’ में रहते हैं। ‘एंटीलिया’ दुनिया का सबसे महंगा ईमारत माना जाता है। लगभग 600 कर्मचारियों का दल इस ईमारत की देख-रेख के लिए है।

इस ईमारत में अनेको कमरे है।  एंटीलिया ईमारत को लेकर भी मुकेश अम्बानी ज्यादातर समय सुर्ख़ियो में बने रहते है। इसे बनाने के लिए 1 बिलियन USD से अधिक मूल्य का अनुमान लगाया गया है और सबसे महंगा घर होने का दावा किया गया है।

मुकेश अंबानी को प्राप्त पुरस्कार

मुकेश अंबानी ने 2004 में  दूरसंचार के क्षेत्र में सबसे प्रभावशाली व्यक्ति के लिए ‘विश्व संचार पुरस्कार’ प्राप्त किया है। वह 2010 मे बिजनेस काउंसिल फॉर इंटरनेशनल अंडरस्टैंडिंग द्वारा प्रस्तुत ‘ग्लोबल लीडरशिप अवार्ड’ के विजेता भी बने।

उन्हें एशिया सोसायटी, वाशिंगटन डीसी, यूएसए द्वारा एशिया सोसायटी लीडरशिप अवार्ड से भी सम्मानित किया गया था। 2014 में मुकेश अंबानी फोर्ब्स की दुनिया के सबसे शक्तिशाली लोगों की सूची में 36 वें स्थान पर थे।

मुकेश अंबानी का जिओ टेलीकॉम कंपनी आज भारत में बहुत ज्यादा प्रशिद्ध है। Jio ने 300 मिलियन से अधिक ग्राहकों को मुफ्त घरेलू वॉयस कॉल, सस्ती डेटा सेवाओं की सुविधा प्रदान करवाई है। मुकेश अंबानी अपने बिज़नेस कारोबार के लिए जाने जाते है।