होम Nutrition भोकर फल के कार्य और लाभ

भोकर फल के कार्य और लाभ

भागदौड़ भरी जिंदगी में लोगों की खानपान के कारण आजकल के लोग बहुत ज्यादा कमजोर हो जाते हैं। उनके खानपान में सभी तरह की प्रोटीन विटामिंस उनको नहीं मिल पाते हैं इस कारण से उनको कमजोरी का सामना करना पड़ता है इसलिए वह ना तो अच्छे से चल पाते हैं ना ही कहीं दौड़ पाते हैं इन कमजोरियों के कारण उनको बहुत ही नीचे और सर झुकाना पड़ता है।

पर आपको बता दें आज हम एक ऐसे फल के बारे में बताने जा रहे हैं इसका नाम है भोकर, भोकर फल बहुत ही ज्यादा फायदेमंद होता है। भोकर फल के सेवन करने से उनको हर तरह की बीमारियों का सामना करने की ताकत मिलती है।

भोकर फल क्या होता है? कहां मिलता है?

भोकर एक ऐसा फल होता है जिसे खाने से हमारे शरीर को एक नई ऊर्जा मिलती है। जिसके कारण हम किसी के साथ संबंध बनाने में निपुण हो जाते हैं। भोकर फल के उपयोग से हमारी हड्डियां बहुत मजबूत होती है। इससे हमें कभी भी असहनीय महसूस नहीं होता है।

भोकर फल का उपयोग अगर आपने अभी तक नहीं किया है तो आप इसका इस भोकर फल का उपयोग करना स्टार्ट कर दीजिए| क्योंकि भोकर फल के सेवन से हड्डियां और नई ऊर्जा के साथ साथ यह हमारे इम्यून सिस्टम को भी अच्छा बनाता है। जिसके कारण से हमें बहुत सारी बीमारियों को लड़ने की ताकत मिलती है।

तो यह फल जिसका दूसरा नाम लिसोड़ा भी हैं गांव में उसका दूसरा नाम ने लिहसोड़ा होता है। लिसोड़ा(भोकर) आपको हर गांव में मिल जाता है। यह एक पीले प्रकार का फल होता है। पर जब यह कच्चा होता है तो वह भी ज्यादा फायदेमंद होता है।

मर्दों को कमजोरी को दूर करने के लिए इस फल का सेवन करना चाहिए। यह फल मर्दो लिए एक रामबाण की तरह होता है। भोकर फल का उपयोग हमारे पाचन तंत्र को भी सही बनाता है।

इसके कारण हमें भूख अच्छी लगती है। और हमारे शरीर की वृद्धि करने लगता है। और हमारे शरीर में एक नई तरह की ऊर्जा का निर्माण होता है जिसके कारण हमें ताकत का आभास होता है। भोकर फल मर्दों के लिए घोड़े जैसी ताकत देने वाला माना जाता है। इसलिए अगर आपको भी किसी तरह की कमजोरी होती है तो आप भोकर फल का उपयोग जरूर करें।